जीपीएम में मॉब लीचिंग का मामला आया सामने, पशु तस्करी के शक में हुई पिटाई से 01 की मौत, 05 घायल

जीपीएम में मॉब लीचिंग का मामला आया सामने, पशु तस्करी के शक में हुई पिटाई से 01 की मौत, 05 घायल
जीपीएम में मॉब लीचिंग का मामला आया सामने, पशु तस्करी के शक में हुई पिटाई से 01 की मौत, 05 घायल

पेंड्रा। जिले के गौरेला थानाक्षेत्र में मॉब लीचिंग का मामला सामने आया है जिसमे छत्तीसगढ़ से मवेशी लेकर मध्यप्रदेश जा रहे दो युवकों की ग्रामीणों ने बंधक बनाकर पिटाई कर दी, जिसके बाद युवकों की सूचना पर छुड़ाने आए चार अन्य परिजनों को भी लात घूसे, लाठी डंडे से जमकर पीटा गया, ग्रामीणों की पिटाई से एक युवक मौके पर ही मौत हो गई।

पडोसी राज्य मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं पीड़ित

मॉबलिंचिंग का मामला सामने आने के बाद पुलिस ने मामले में गंभीरता दिखाते हुए शुरुआती जांच के आधार पर कई संदिग्ध ग्रामीणों को हिरासत में लिया है। सभी पीड़ित मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं जिनसे शिनाख्ती परेड के बाद आरोपियों पर कड़ी कार्यवाही करने की बात पुलिस कह रही है। फिलहाल मामले में पीड़ित की ओर से FIR में जनपद सदस्य सुखराम भैना,सरपंच पुरुषोत्तम भैना, पूर्व सरपंच कृष्ण कुमार भैना, सौरभ कुमार भैना, धर्म सिंह बैगा, रामकरण यादव समेत 20 -22 अन्य लोगो के खिलाफ धारा हत्या और बलवे के तहत अपराध दर्ज किया गया है।

सामुदायिक भवन में बंद करके पीटा

पूरा मामला जिले के गोरेला थाना क्षेत्र का है जहां से से मवेशी लेकर मध्यप्रदेश जा रहे दो युवकों को दूरस्थ वनग्राम साल्हेघोरी के जंगल मे स्थानीय लोगो ने पकड़ लिया एवं पिटाई शुरू कर दी , ग्रामीणों ने युवकों पर आरोप लगाया कि वे उनके गांव के आसपास के मवेशी चोरी करके ले जाते हैं, युवकों के पकड़े जाने की ख़बर लगते ही धीरे-धीरे ग्रामीण जुड़ते गए और युवकों की पिटाई होती रही।

बचाने पहुंचे परिजनों पर भी हमला

शाम होने पर दोनों युवकों को गांव के सामुदायिक भवन में बंद कर दिया गया, पीड़ितों के अनुसार सुबह 4:00 बजे ही ग्रामीण सामुदायिक भवन आ धमके और उनकी दुबारा पिटाई शुरू कर दी। बाद में पीड़ितों ने घटना की जानकारी मोबाइल से अपने गांव मध्यप्रदेश में दी युवको के बंधक बनाकर पिटाई किए जाने की जानकारी मिलने के बाद गांव से सूरज सिंह सहित तीन अन्य लोग साल्हेघोरी गांव पहुंचे, जहा पर इन चारों के पहुंचने के बाद भी ग्रामीण शांत नहीं हुए एवं चारों की पिटाई शुरू कर दी। ग्रामीणों ने सूरज सिंह को इतना पीटा की मौके पर ही बेहोश होकर गिर पड़ा और उसकी मौत हो गई। किसी तरह ग्रामीणों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। बाद में पुलिस ने मृतक सहित सभी को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाकर थाने ले आए।

घायलों की हालत गंभीर

पीड़ित सभी ग्रामीणों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनका इलाज चल रहा है घायलों में एक की हालत ज्यादा गंभीर बनी हुई है। वही सभी पीड़ितों के पीठ हाथ पैर में डंडे लाठी की चोट के निशान हैं, जबकि उनमें से कुछ लोगों को गंभीर अंदरूनी चोटें भी आई है। मॉब लिंचिंग से हुई मौत के बाद से पुलिस भी हरकत में आ गई। एडिशनल एस पी प्रतिभा पांडेय ने बताया कि सभी पीड़ितों के बयान दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस ने 20 से 25 लोगों के खिलाफ हत्या सहित अन्य धाराओं के तहत जुर्म दर्ज किया है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर