रिलीज होते ही विवादों में घिरी कंगना रनौत की फिल्म थलाइवी, जे. जयललिता की पार्टी ने जताई आपत्ति

रिलीज होते ही विवादों में घिरी कंगना रनौत की फिल्म थलाइवी, जे. जयललिता की पार्टी ने जताई आपत्ति
रिलीज होते ही विवादों में घिरी कंगना रनौत की फिल्म थलाइवी, जे. जयललिता की पार्टी ने जताई आपत्ति

बॉलीवुड डेस्क। ऐक्ट्रेस कंगना रनौत की फिल्म थलाइवी रिलीज होते ही विवादों से घिर गई है। बता दें फिल्म 10 सितंबर को ही रिलीज हुई है। ये फिल्म तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता की जिंदगी पर बनी है लेकिन उनकी पार्टी AIADMK ने फिल्म के कुछ सीन को लेकरआपत्ति जताई है।

पार्टी का दावा है कि कुछ सीन फिल्म में ऐसे हैं, तो तथ्यात्मक रूप से गलत हैं। पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री डी. जयाकुमार ने फिल्म देखने के बाद मीडिया से बात की। उन्होंने कहा, यह फिल्म काफी अच्छी तरीके से बनाई गई है। अगर कुछ सीन को डिलीट कर दिया जाए, तो यह बड़ी हिट साबित हो सकती है।

एमजीआर ने नहीं मांगा था पद : डी जयाकुमार

थलाइवी, जे जयललिता और उनके मेंटर एमजीआर के जीवन पर बनी है। फिल्म में दिखाया गया है कि कैसे एक सफल फिल्म करियर के बाद जयललिता अपना राजनीतिक सफर शुरू करती हैं और प्रदेश की मुख्यमंत्री तक बनती हैं। डी जयाकुमार के अनुसार इस फिल्म में दिखाया गया है कि एमजीआर ने पहली डीएमके सरकार में मंत्रिपद मांगा हैं। जबकि ऐसा नहीं हुआ था। एमजीआर ने कभी पद की मांग नहीं की थी, वो सिर्फ एक विधायक बनकर रहना चाहते थे।

जयाकुमार ने इस सीन पर भी जताई आपत्ति

वहीं जयकुमार को फिल्म के एक और सीन पर आपत्ति है जिसमें जयललिता को राजीव गांधी और इंदिरा गांधी से मिलते हुए दिखाया गया और इस बात की जानकारी एमजीआर को नहीं थी। उन्होंने कहा कि यह बिल्कुल गलत है, क्योंकि वह कभी भी अपने नेता के खिलाफ नहीं गईं। उन्होंने ये भी कहा कि कुछ सीन में एमजीआर को जयललिता को कम महत्व देते हुए दिखाया गया जो कि सच नहीं है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएपपर