ऑनर किलिंग की बजाय प्रेम प्रसंग का निकला मामला, प्रेमी ने की थी युवती की हत्या, परिजनों को फंसाने की रची थी साजिश

ऑनर किलिंग की बजाय प्रेम प्रसंग का निकला मामला, प्रेमी ने की थी युवती की हत्या, परिजनों को फंसाने की रची थी साजिश
ऑनर किलिंग की बजाय प्रेम प्रसंग का निकला मामला, प्रेमी ने की थी युवती की हत्या, परिजनों को फंसाने की रची थी साजिश

कोरबा। यहाँ के कटघोरा थाना अंतर्गत ग्राम तुमान में हुई एक युवती की हत्या की गुत्थी को सुलझाने में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। कल तक जिस पुलिस इस मामले को ऑनर किलिंग का समझते हुए मृतका के परिजनों से पूछताछ कर रही थी, मगर जब परतें खुलनी शुरू हुई तब पता चला कि युवती की हत्या उसके प्रेमी ने की थी। हत्या की वजह प्रेम प्रसंग से संबंधित होना पाया गया है जिसमें प्रेमी ने युवती की बेवफाई को लेकर उसे मौत की नींद सुला दिया।

सायबर सेल और डॉग स्क्वाड ने परिजनों पर जताया था संदेह

हत्या के इस मामले की जांच में पहुचे सायबर सेल व खोजी कुत्ते ने मृतका कृष्णा कुमारी गोस्वामी के परिजनों पर संदेह जताया। सायबर सेल ने जांच में पाया कि कृष्णा के मोबाइल से मैसेज किया गया है जिसमें कृष्णा के द्वारा लिखा गया था कि अपने पिता से उसको जान का खतरा है. इसके बाद कटघोरा पुलिस द्वारा पिता पुत्र समेत 4 लोगो को संदेही के रूप में पूछताछ के लिए थाने लाया गया।

प्रेमी ने सुनियोजित ढंग से की हत्या

तुमान हत्या कांड में पुलिस की गहन जांच में जो तथ्य सामने आया, उसके मुताबिक युवती की हत्या परिजनों ने नहीं बल्कि उसके प्रेमी संजय चौहान ने की थी। संजय ने टेलीविजन सीरियल क्राइम पेट्रोल को देखकर ऐसी अंदाज़ में इस हत्या को अंजाम दिया. दरअसल स्वास्थ्य कर्मी दिगपाल दास गोस्वामी की बड़ी बेटी कृष्णा कुमारी गोस्वामी का तुमान के आमाभाठा के युवक संजय चौहान के साथ पिछले 7 वर्षों से प्रेम संबंध था. संजय को शक था कि कुमारी का किसी और युवक से भी संबंध है।

विवाह से किया इंकार तो कर दी हत्या

कृष्णा कुमारी गोस्वामी की दोस्ती कटघोरा के एक युवक नेमेंद्र देवांगन से ऑनलाइन मोबाइल गेम के जरिये हुई और दोनों के बीच मोबाइल से व चैटिंग के जरिये बातचीत होने लगी, जिसकी भनक कृष्णा के प्रेमी संजय को हो गई. और संजय प्रेमिका कृष्णा से इस बात को लेकर नाराज़ था। घटना की रात तकरीबन डेढ़ बजे संजय बिना चप्पल व मोबाइल के युवती के घर पहुँचा और इस दौरान कृष्णा को उसकी बाड़ी के पीछे बुलाकर उसपर विवाह के लिए काफी दबाव बनाया, कृष्णा मना करने पर अपने मोबाइल व कटघोरा के युवक नेमेन्द्र के मोबाइल पर कृष्णा से मैसेज पोस्ट किया कि “मुझे बचा लो, मेरे पिताजी मुझे मार डालेंगे” उसके बाद संजय ने कृष्णा के घर पर रखी साड़ी से कृष्णा का गला दबाकर उसे मौत के घात उतार दिया. घटना के वक्त घर के सभी सदस्य नींद में थे। सुबह जब कृष्णा के पिता दिगपाल घर के पीछे बाडी में गए तो कृष्णा मृत अवस्था में पड़ी हुई थी और गले में साड़ी लिपटी हुई है तो उन्होंने कृष्णा के गले से साड़ी के फंदे को हटाया और देखा तो कृष्णा मर चुकी थी, घटना की सूचना कटघोरा थाना में दी गई।

इस तरह एक मोबाइल के मैसेज से मामला ऑनर किलिंग का नजर आया, मगर गहन जाँच, पूछताछ और सर्विलांस से हत्या के इस मामले का 24 घंटे के भीतर ही खुलासा हो गया।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर