लॉकडाउन में गांव की खबरः हमर चंऊर के बोरी भरे हे, भूपेश सरकार चिंता हरे हे, दु महीना बैठ के खाबो, घर मे रबो, कोरोना ल हराबो

फिंगेश्वर विकासखंड के डेढ़ लाख परिवारों की चिंता दूर हुई

रायपुर। फिंगेश्वर विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत बोरिद की भुंजिया पारा में अंत्योदय के 86 परिवारों को दो महीने का निःशुल्क चावल मिला।

भुंजिया समुदाय के फिरंतीन बाई भुंजिया व साकिन बाई कहती है कि जब हमर सरकार घर-घर मे बैठे-बैठे दो महीना के चँउर देवत हे त काबर बाहर जाबो, घर मे रबो, कोरोना ल हराबो।

इस व्यवस्था से खुश होकर वे कहती है कि हमर भुपेश सरकार सुग्घर ब्यवस्था करे हे। ऐसे ही कई गरीब परिवारों का कहना है कि दो महीने का एक साथ निःशुल्क राशन मिलने से उनकी दो वक्त का भोजन का इंतजाम हो गया है और वे अब निश्चिंत है।

गरियाबंद जिले के सभी 1 लाख 58 हजार बीपीएल कार्डधारियों को दो माह का एकमुश्त राशन निशुल्क मिल रहा है। जिले के 342 राशन दुकानों के माध्यम से राशन वितरण का काम भी शुरु हो गया है ।

यह गरीबो के लिए सुकून देने वाला फैसला है जिसका हितग्राहियों द्वारा खुले दिल से प्रशंसा किया जा रहा है। खाद्य अधिकारी ने बताया कि गरियाबंद जिले में 1 लाख 58 हजार 338 प्रचलित अन्त्योदय, प्राथमिकता, निःशक्तजन, एकल, निराश्रित और अन्नपूर्णा श्रेणी के

राशनकार्डधारियों को अपैल और मई, दो माह का राशन वितरण निशुल्क किया जा रहा है, साथ ही सामान्य (एपीएल) राशन कार्डधारियों को एक माह का चावल वितरण किया जा रहा है । अब बिना राशन कार्ड धारियों को राशन निःशुल्क दिया जाएगा ।

देश व्यापी लाॅकडाउन के चलते मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देशन में जिला प्रशासन गरियाबंद द्वारा सभी ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में राशन वितरण का कार्य जारी है।

यहां हितग्राहियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए राशन लेने की सलाह दी गई है और अब टोकन जारी कर राशन वितरण किया जा रहा है।

फिंगेश्वर विकासखंड के ग्राम पंचायत बोरिद के सरपंच श्री माखन ध्रुव ने बताया कि यहां सभी बीपीएल कार्डधारक तथा एपीएल कार्डधारी हितग्राहियों को राशन का वितरण प्रारंभ हो गया है।

सरपंच ने बताया कि वे स्वयं खड़े होकर हितग्राहियों को राशन प्रदान कर रहे हैं ।वही निशुल्क राशन लेने पहुंची ग्राम के बीपीएल कार्ड धारी ने सरकार के इस राहत भरे फैसले का खुलकर सराहना की।

राम कमार, अघतीन कमार, राधिका ध्रुव ने कहा है कि हमें एकमुश्त 2 माह का चावल मिला है। यह पहली बार हो रहा है, सरकार ने जिस तरह हमारा ध्यान रखा है उसके प्रति हम सदा आभारी रहेंगे।

इन हितग्राहियों ने सरकार का धन्यवाद देते हुए कहा कि अब हमें भूख की चिंता नहीं है। हम अपने घरों में सुरक्षित हैं और दूसरों को भी सुरक्षित रख रहे हैं।

शासन की इस सवेंदनशील फैसले की ग्रामीणों और जनप्रतिनिधियों ने भी स्वागत करते हुए गरीबों को राशन दिलाने में मदद कर रहे हैं। ग्राम टेका के श्री भावसिंग साहू और ग्राम जेन्जरा के भारत दीवान ने बताया कि वे स्वयं शासन के इस नेक फैसले को हितग्राहियों तक पहुंचा रहे हैं।

इसके अलावा पंचायत में 2 क्विंटल चावल रिजर्व के रूप में रखा गया है जिसे जरूरतमंद लोगों को निःशुल्क वितरित किया जाएगा।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें 

Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें  और Youtube  पर हमें subscribe करें।