छत्तीसगढ़िया बेटी याशी ने यूरोप की माउंट एल्बू्रस पर फहराया तिरंगा, सीएम भूपेश बघेल ने दी बधाई

रायपुर। राज्य के रायगढ़ की बेटी याशी जैन ने यूरोप की सबसे ऊंची चोटी (Highest Peak) माउंट एल्बू्रस (Mount Elbrus) पर तिरंगा(tricolor) फहराने में कामयाब हो गई। इसकी ऊंचाई 5 हजार 6 सौ 42 मीटर बताई जाती है। याशी ने ये चढ़ाई सिर्फ 5 दिनों में पूरी की। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने इस मौके पर याशी जैन को बधाई दी है।
पहले ही प्रयास में हुई कामयाब:
1 जुलाई को यूरोप की सबसे ऊंची चोटी (Highest Peak) की चढ़ाई शुरू की और 5 दिनों में पहले प्रयास में ही 5642 मीटर ऊंचे शिखर पर चढकर तिरंगा फहराने की कामयाबी हासिल की है।

7 महाद्वीपों के सबसे ऊंची चोटी पर चढ़ने का संकल्प
याशी ने यह संकल्प लिया है कि वह 7 महाद्वीपों में तिरंगा फहराने का लक्ष्य हासिल किया है। इस चोटी पर चढ़ाई करने के बाद याशी ने माउंट एवरेस्ट (Mount Everest) की चढ़ाई चढऩे का निश्चय लिया है। वे मंगलवार को यूरोप से भारत लौटेंगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दी बधाई:
याशी यह उपलब्धि हासिल करने वाली छत्तीसगढ़ की पहली महिला पर्वतारोही है। छत्तीसगढ़ की बेटी याशी की इस उपलब्धि पर प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उन्हे बधाई दी है। इसके साथ ही विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत, खेलमंत्री उमेश पटेल और कांग्रेस स्पोर्ट्स सेल ने बधाई दी है।

यूरोप का सबसे ऊंचा पर्वत है माउंट एल्ब्रुस
एल्ब्रुस पर्वत एक सुस्त ज्वालामुखी (Sluggis Volcano) है जो कॉकस पर्वत श्रृंखला में स्थित है। यह यूरोप का सबसे बड़ा पर्वत माना जाता है। इस पर्वत के एशिया और यूरोप दोनों की सीमा में होने के कारण विवाद है कि यह एशिया (Asia) में हैं या यूरोप में। पर इसे यूरोप की सबसे ऊंची चोटी माना जाता है। याशी जैन की इस विजय से पूरे छत्तीसगढ़ के युवाओं में उत्साह का माहौल है। तो वहीं युवतियों का आईकॉन बन गई हैं याशी जैन।
Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें और Twitter पर Follow करें
एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें

Back to top button