छत्तीसगढ़ की ग्राम पंचायतों में बाल अधिकारों को बढ़ावा देने के लिए ‘पंचायत संगवारी’ नेटवर्क की शुरूवात

बस्तर: छत्तीसगढ़ में बाल अधिकारों को बढ़ावा देने और ग्राम पंचायतों को बाल-सुलभ बनाने के लिए एक अभिनव राज्य-व्यापी युवा नेटवर्क, राज्य में 5,000 सरपंचों के नेटवर्क सीजी-पंच द्वारा बस्तर में लॉन्च किया गया है।

सरपंचों के सीजी-पंच नेटवर्क ने प्रत्येक ग्राम पंचायत में 2-3 युवा संगवारी का चयन किया है, जिन्हें यूनिसेफ द्वारा प्रशिक्षित किया जाएगा। संगवारी गांवों को बाल-सुलभ बनाने और बाल सभा और महिला सभा आयोजित करने में सरपंचों की सहायता करेंगी। वे सरपंचों को सूचना एकत्र करने, कार्यक्रमों की निगरानी करने और बाल-संबंधित कार्यक्रमों पर समीक्षा बैठकें आयोजित करने में भी सहायता करेंगे।

छत्तीसगढ़ में यूनिसेफ के प्रमुख, जॉब जकारिया ने सीजी-पंच की पहल का स्वागत करते हुए कहा, “पहल नए विचारों को लाएगा और पंचायत विकास में युवाओं, बच्चों और महिलाओं की भागीदारी को बढ़ावा देगा।”

यूनिसेफ के सामाजिक नीति विशेषज्ञ बाल परितोष दास ने सुझाव दिया कि राज्य में 25,000 युवा स्वयंसेवकों का एक संवर्ग बनाने के लिए सीजी-पंच अधिक स्वयंसेवकों को नामित कर सकता है। पंचायत संगवारी नेटवर्क के शुभारंभ के अवसर पर उनके द्वारा मनोनीत लगभग 100 सरपंच एवं संगवारी उपस्थित थे।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button