राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के तहत एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड अधिनियम देश भर में लागू

नई  दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के  तहत  एक राष्ट्र एक राशन कार्ड’ पोर्टेबिलिटी’ सेवा पूरे देश में लागू कर दी गई है। राशन कार्डधारी अब देश में कहीं पर भी अपने कोटे की  राशन खरीद सकता है। असम ने आखिरकार राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी’ सेवा शुरू कर दी है और इसके साथ ही केंद्र का ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’ कार्यक्रम पूरे देश में लागू हो गया है।


खाद्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। एक देश, एक राशन कार्ड के तहत, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013  के तहत कवर किए गए लाभार्थी अपनी पसंद के किसी भी इलेक्ट्रॉनिक पॉइंट ऑफ़ सेल डिवाइस लैस राशन की दुकानों से सब्सिडी वाले खाद्यान्न का अपना कोटा प्राप्त कर सकते हैं।


इसके लिए उन्हें बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के साथ अपने मौजूदा राशन कार्ड का उपयोग करना होगा। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि असम इस योजना को लागू करने वाला 36वां राज्य/केंद्र शासित प्रदेश बन गया है। इसके साथ, कार्यक्रम को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सफलतापूर्वक लागू कर दिया गया है, जिससे पूरे देश में खाद्य सुरक्षा ‘पोर्टेबल’ हो गई है।


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा का क्रियान्वयन अगस्त 2019 में शुरू किया गया था। एक देश, एक राशन कार्ड योजना का अधिकतम लाभ उठाने के लिए सरकार ने ‘मेरा राशन’ मोबाइल एप्लिकेशन भी शुरू किया है। यह ऐप लाभार्थियों को वास्तविक समय पर सूचना उपलब्ध करा रहा है। यह अभी 13 भाषाओं में उपलब्ध है। अब तक ऐप को गगूल प्ले स्टोर से 20 लाख से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है।

Back to top button