शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद बोले संजय राउतः हिंदुत्व की विचारधारा पर चलेगी पार्टी

शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद बोले संजय राउतः हिंदुत्व की विचारधारा पर चलेगी पार्टी

टीआरपी डेस्क। महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ गठबंधन महाविकास अघाड़ी की सरकार पर गहराए संकट के बीच शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद पार्टी नेता संजय राउत ने कहा है कि इस मीटिंग में छह प्रस्ताव पारित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि शिवसेना बालासाहेब ठाकरे की हिंदुत्व की विचारधारा पर चलेगी और संयुक्त महाराष्ट्र की विचारधारा से कोई समझौता नहीं करेगी।

“जिन लोगों ने पार्टी को धोखा दिया है, उनके ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जो लोग पार्टी छोड़कर गए हैं, उनके ख़िलाफ़ कदम उठाने का अधिकार मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पास है। अपने खुद के फायदे के लिए जिन लोगों ने बालासाहेब ठाकरे के नाम का इस्तेमाल किया है, हम उनके ख़िलाफ़ क़ानूनी कदम उठाएंगे।”

“पार्टी छोड़ने वालों के ख़िलाफ़ क्या कार्रवाई की गई जा रही है, इसका पता लोगों को शाम तक चल जाएगा। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जो काम किए हैं, वो सराहनीय हैं। हम सभी चुनाव उनके नेतृत्व में लड़ेंगे।” उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि जो लोग पार्टी छोड़कर गए हैं, उन्हें शिवसेना और बालासाहेब ठाकरे के नाम पर वोट नहीं मांगना चाहिए। वे अपने पिता के नाम पर वोट मांगें महाविकास अघाड़ी एकजुट है।”

शिवसेना में मचे घमासान के बीच अमरावती की सांसद नवनीत राणा ने शनिवार को राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग की है। नवनीत राणा ने कहा है कि “मैं गृह मंत्री अमित शाह से उद्धव ठाकरे का साथ छोड़ने वाले और अपना फ़ैसला खुद करने वाले विधायकों के परिजनों को सुरक्षा मुहैया कराने का आग्रह करती हूं। उद्धव ठाकरे की गुंडागर्दी ख़त्म होनी चाहिए। मैं राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने का आग्रह करती हूं।” बता दें कि शिवसेना के नाराज पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा कथित तौर पर विधायक तानाजी सावंत के दफ्तर पर तोड़-फोड़ की गई है। जिसके बाद सांसद नवनीत राणा ने यह बयान दिया है।

मुंबई शहर में धारा 144 लागू

महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना में एकनाथ शिंदे के विद्रोह के बाद राज्य में कई जगहों पर शिवसैनिक आक्रामक हो गए हैं। कई जगहों पर विधायकों के कार्यालयों पर हमले भी हुए हैं। राज्य में राजनीतिक अस्थिरता को देखते हुए मुंबई पुलिस ने शहर में धारा 144 लागू करने का फैसला किया है।

एकनाथ शिंदे गुट का नया नाम

एकनाथ शिंदे और बागी विधायकों ने अपने गुट के लिए ‘शिवसेना बालासाहेब’ नाम रखने का फैसला लिया है। विधायकों का कहना है कि हम बालासाहेब की विचारधारा के प्रति प्रतिबद्ध हैं, हमने एक स्वतंत्र ग्रुप बनाया है। हम किसी के साथ विलय नहीं करेंगे। इस ग्रुप का एक स्वतंत्र अस्तित्व होगा।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button