बेंगलुरु। ‘पेसीएम’ अभियान को लेकर कर्नाटक की राजनीति में बवाल मच गया है। इसे दखते हुए कर्नाटक कांग्रेस के ऑफिस के बाहर भारी पुलिसबल को तैनात कर दिया गया है।

बता दें कि कर्नाटक कांग्रेस के सभी विधायक और एमएलसी द्वारा पूरे शहर में ‘पेसीएम’ के पोस्टर चिपकाने और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिए जाने का विरोध किए जाने की योजना है।

इस बारे में कर्नाटक सीएम बसवराज बोम्मई का कहना है कि कांग्रेस द्वारा लगाए जा रहे आरोप सहीं नहीं है। कांग्रेस ने कोई सबूत नहीं दिया है। कांग्रेस के कार्यकाल के दौरान जितने घोटाले हुए उनकी जांच की जानी चाहिए। यह क्यूआर कोड चिपकाना गलत है।

जानें क्या है पूरा मामला

कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी ने सीएम बोम्मई को घेरने अपने ‘PayCM’ पोस्टर अभियान को और तेज कर दिया है। आज बेंगलुरु के नेलमंगला में भारतीय जनता पार्टी कार्यालय में ‘पेसीएम’ के पोस्टर लगाए गए।

पुलिस ने शुरू की जांच

बता दें की ‘PayCM’ मामले में सीएम के निर्देश पर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने कांग्रेस कर्नाटक इकाई के सोशल मीडिया दल के पूर्व प्रमुख बी आर नायडू को गिरफ्तार किया था। बता दें कि कांग्रेस के अभियान के तहत लगाए गए पोस्टर में बने क्यूआर कोड के बीच सीएम बोम्मई के चेहरे की तस्वीर लगाई गई है। साथ ही इसके नीचे लिखा गया था कि 40 फीसदी यहां लिया जाता है।

दरअसल कांग्रेस ने कर्नाटक सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। कांग्रेस पार्टी का कहना है कि कर्नाटक सरकार लोक निर्माण कार्यों के ठेके देने के लिए ठेकेदारों से 40 फीसदी कमीशन लेती है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर