कोरोना संक्रमितों से बेहतर समन्वय के लिए बनाए गए तीन कॉल सेंटर

रायपुर। कोरोना संक्रमितों से बेहतर समन्वय के लिए तीन कॉल सेंटर ( corona call center raipur chhattisgarh ) बनाये गए हैं। होम आइसो लेटेड पर्सन के लिए 24 घंटे कॉल सेवा उपलब्ध रहेगी। छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों ( Corona in Chhattisgarh ) की संख्या तेजी से बढ़ रही है। प्रदेश में सबसे ज्यादा प्रभावित रायपुर जिला है। बिगड़ते हालात को देखते हुए जिला प्रशासन ने भी कमर कस ली है।

उपलब्ध कराए गए आपातकालीन नम्बर

संक्रमितों (Corona Positive) को किसी तरह की समस्या ना हो इसके लिए आपातकालीन नम्बर भी उपलब्ध कराए गए हैं। तीन अलग-अलग तरह के कॉल सेंटर ( corona call center raipur chhattisgarh ) के जरिए इन इन आपातकालीन नंबरों का संचालन किया जा रहा है। जैसे ही किसी की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, उसके बाद कांटेक्ट ट्रेसिंग (Contact Tracing) किया जाता है, प्राइमरी कांटेक्ट कौन है यह जानना जरूरी होता है, क्योंकि अन्य व्यक्ति जो कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति का प्राइमरी कांटेक्ट है वह संक्रमित ना हो जाए उस को ध्यान में रखते हुए न्यू सर्किट हाउस से कॉल जाता है। कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु आवश्यक सुरक्षा बरतने को लेकर प्राइमरी कांटेक्ट के लिए कॉल आता है।

होम आइसोलेशन के लिए जारी किया जा रहा है आपातकालीन नम्बर

दूसरा प्राइमरी कांटेक्ट (Corona Primary Contact) के दौरान जिस भी मरीज ने होम आइसोलेशन (Home Isolation) का विकल्प चुना है, उनके लिए आपातकालीन नम्बर जारी किया जा रहा है। यदि होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्ति को किसी भी तरह की कोई समस्या होती है तो दिन-रात 24 घंटे आपातकालीन नंबर पर कॉल किया जा सकता है। इसके लिए तीन आपातकालीन नंबर जारी किए गए हैं।

यदि किसी मरीज को कोई दिक्कत होती है तो उसके लिए पूरी व्यवस्था कर दी गई है। रात में भी किसी मरीज की तबीयत खराब होती है, तो उसे एडमिट करने से लेकर दी जाने वाले ट्रीटमेंट के संदर्भ में पूरी जानकारी दी जाती है। इसके अलावा तीसरा आपातकाल कक्ष में ही एक और सेंटर है, जिसमें यदि लोगों के अन्य समस्याएं होती है, जैसे उन्हें कंटेनमेंट एरिया की जानकारी चाहिए या अन्य प्रकार सवालों का जवाब दिया जाता है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Twitter पर Follow करें और Youtube  पर हमें subscribe करें। एक ही क्लिक में पढ़ें  The Rural Press की सारी खबरें।