लॉन बॉल्स में भारतीय महिला टीम ने रचा इतिहास, देश को दिलाया चौथा स्वर्ण पदक

Commonwealth Games : कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 का आज छटवां दिन है। वहीं कल मंगलवार को भारतीय महिला टीम ने इतिहास रच दिया है। टीम ने लॉन बॉल्स (lawn balls) में पहली बार गोल्ड अपने नाम किया है। इस मुकाबले में भारत ने साउथ अफ्रीका को 17-10 से हराया। यह पहली बार हुआ है कि कॉमनवेल्थ गेम्स में टीम ने लॉन बॉल में पहला स्वर्ण पदक अपने नाम किया है। इस अंजान खेल में परचम लहराते हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को चौथा गोल्ड दिलाया।

गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम में कुल चार महिलाएं,

जिस गेम को भारत में काफी कम लोग जानते हैं। उस गेम में भारतीय महिला टीम ने गोल्ड जीत कर बर्मिंघम में देश का नाम रोशन किया। लॉन बॉल्स में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम में कुल चार महिलाएं हैं। जिनका नाम लवली चौबे, रूपा रानी टिर्की, पिंकी और नयनमोनी साकिया है। लॉन बॉल एक आउटडोर गेम है जिसमें खिलाड़ी बॉल को रोल करते हुए आगे बढ़ाते हैं। लॉन बॉल में सबसे ज्यादा गोल्ड मेडल जीतने का रिकॉर्ड फिलहाल इंग्लैंड के नाम है।

कैसे खेला जाता है लॉन बॉल गेम?

लॉन बॉल एक आउटडोर गेम है जिसमें एक गेंद (Bowl) को मैदान में फेक कर रोल करके खिलाड़ी द्वारा आगे बढ़ाया जाता है। रबड़ की इस गेंद का वजन अधिकतम 1.59 किलोग्राम तक हो सकता है। गेंद एक तरफ चपटे होते हैं। इस खेल का नियम बड़ा ही रोचक है। इस खेल बड़े खुले मैदान में खेला जाता है। गेंद को रोल कराते हुए खिलाड़ी उसे आगे के लिए धकेलते हैं। इस बॉल को जैक तक पहुंचाना होता है। लॉन बॉल में जैक का दूसरा नाम गोल भी होता है। बॉल को इसी जैक में पहुंचाना होता है और इसी आधार पर अंक का निर्धारण होता है। जहां से गेंद रोल करने की शुरुआत होती वहां से इस जैक की दूरी 23 मीटर होती है।

कैसी जगह पर खेल सकते है,

लॉन बॉल एक ऐसी जगह पर खेली जाती है जो समतल या फिर उभरी (क्राउन-ग्रीन बाउल्स के लिए) हुई हो। लगभग लॉन बॉल को आउटडोर में ही खेला जाता है। लेकिन कुछ-कुछ जगहों पर इंडोर में भी खेला जाता है। इस खेल के लिए सतह या तो प्राकृतिक घास, कृत्रिम घास हो सकता है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

Back to top button