बड़ी खबर: बर्ड फ्लू से देश में पहली मौत, AIIMS में 11 साल के बच्चे ने तोड़ा दम

बड़ी खबर: बर्ड फ्लू से देश में पहली मौत, AIIMS में 11 साल ले बच्चे ने तोड़ा दम
Image Source : Google

टीआरपी डेस्क। कोरोना की तीसरी लहर के बीच मंगलवार को AIIMS में एक 11 वर्षीय लड़के की मौत हो गई। जिसके बाद इस मामले ने स्वास्थ्य विभाग को चिंता में डाल दिया है। दरसल, रिपोर्टस के मुताबिक 11 साल के सुशील के मौत के पीछे की वजह बर्ड फ्लू का संक्रमण बताया जा रहा है।

यह भी पढ़े: ब्रेकिंग: चीन से आ रही एक और मुसीबत, पहली बार इंसान में मिला बर्ड फ्लू वायरस का H10N3 स्ट्रेन

डॉक्टरों के मुताबिक देश में इंसानों में बर्ड फ्लू संक्रमण और इससे होने वाली मौत का यह पहला मामला है। सामान्य तौर पर पक्षियों में होने वाली यह बीमारी दुलर्भ मामलों में इंसानों में संक्रमण का कारण बन सकती है। पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) की एक रिपोर्ट में इस संक्रमण की पुष्टि हुई है।

यह भी पढ़े:  बर्ड फ्लू के चलते लाल किला 26 जनवरी तक पर्यटकों के लिए बंद, 15 मृत कौओं में मिला वायरस

कोविड-19 की रिपोर्ट निगेटिव, बर्ड फ्लू से संक्रमित

बता दें, एम्स के डॉक्टरों के मुताबिक जून के अंत में 11 वर्षीय इस लड़के को एम्स के बाल रोग विभाग में भर्ती कराया गया था। शुरुआत में इसमें कोविड-19 का संदेह था, हालांकि जांच में उसका रिपोर्ट निगेटिव आया। परीक्षणों के दौरान उसमें ल्यूकेमिया और निमोनिया के लक्षण भी देखे गए। बाद में सैंपल को जांच के लिए पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजा गया, जहां इसके बर्ड फ्लू से संक्रमित होने की पुष्टि की गई। 20 जुलाई को बच्चे की मौत हो गई।

यह भी पढ़े: राजधानी के बूढ़ा तालाब गार्डन में दो कौवों की मौत बर्ड फ्लू की आशंका

इंसानों में बर्ड फ्लू का यह पहला मामला

सुशील के गांव में H5N1 के और मामलों की जांच करने और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के लिए नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल की एक टीम को हरियाणा भेजा गया है। बता दें, इस साल की शुरुआत में हरियाणा सहित कई राज्यों में बर्ड फ्लू के मामलों की भारी लहर के बाद हजारों जंगली पक्षी मृत पाए गए थे और हजारों मुर्गे मारे गए थे। वहीं विशेषज्ञों का कहना है कि यह मनुष्यों के लिए कम खतरनाक है।

यह भी पढ़े: बड़ी लापरवाही: जिस पोल्ट्री फार्म से आए बर्ड फ्लू के संदिग्ध मामले, सैंपल रिपोर्ट आने से पहले वहीं से मैनपाट महोत्सव में प्रदर्शनी के लिए भेजी गई मुर्गियां

फिर भी, जनवरी के अंत तक केंद्र ने अलर्ट जारी किया था क्योंकि इसने महाराष्ट्र, गुजरात और छत्तीसगढ़ के साथ-साथ केरल, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, यूपी और पंजाब में पोल्ट्री के बीच बर्ड फ्लू की पुष्टि की थी। वहीं डॉक्टर इंसानों में बर्ड फ्लू के मामले को दुर्लभ मानते हैं, क्योंकि जैसा नाम से स्पष्ट है कि यह संक्रमण ज्यादातर पक्षियों में ही होता है। हालांकि इंसानों में बर्ड फ्लू का यह पहला मामला हो सकता है।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे फेसबुक, ट्विटरटेलीग्राम और वॉट्सएप पर